लागी लगन मुझे लागी लगन बागेश्वर धाम भजन | lagan mujhe lagi lagan bageshwar dham Bhajan Lyrics,

Pt anupam sharma shastri
0

लागी लगन मुझे लागी लगन बागेश्वर धाम भजन

लागी लगन मुझे लागी लगन भजन लिरिक्स,


लागी लगन मुझे लागी लगन 

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण 


में तेरे द्वार पे लाऊं जो आ जाए 

बिन मांगे मुझको तो सब कुछ मिले रे 

तू ऐसा दाता है ऐसा विधाता है


तालों से है ये सिलसिले ये मेरा तन

ये मेरा तन हां ये मेरा मन तेरी भक्ति में हर दम रहता है ये मगन 

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

लागी लगन मुझे लागी लगन

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

गाऊंगा नाचूंगा तेरे दर आऊंगा 

तुझ से लगी प्रीत मुझको तो बाला 

में हूं दीवाना रे मेरा ठिकाना 

दर तेरा है और अंजनी लाला 

मेरे नयन हां ये तेरे नयन 

तेरे दर्शन को तरसे कर दे कोई जतन 

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण 

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण 

लागी लगन मुझे लागी लगन

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण  

जो चाहा वो पाया तेरे दर की माया 

मिलती हैं खुशियां तुम्हारे ही दर पे

दर पे में आया हूं परसादी लाया हूं 

रखना दया भागड़ा बेखबर पे

ना चहुं धन ना चाहूं रतन बस गाता रहूं मैं बाला तेरे भजन 

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

लागी लगन मुझे लागी लगन


ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण

ओ बालाजी रखना मुझको अपनी शरण


बागेश्वर धाम महाराज की प्रसिद्ध माला खरीदने के लिए बाय पर क्लिक करें



ऐसे और भी बहुत सुंदर भजन कीर्तन और इस भजन से सबंधित अन्य भजन निचे दिए गए हैं जो आपको अवश्य ही पसंद आयेगे, कृपया करके इन भजनों को भी देखने के लिए हमारी वेबसाइट में नीचे लिस्ट देखें


Video






























एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ

एक टिप्पणी भेजें (0)